TRADING NOW

recent
loading...

पुराने जमाने में भी राजा-रानियां शौचालय में शौच करते थे और स्वछता का पूरा ध्यान रखते थे



मोदी सरकार ने आते ही जनता के हित के लिए बहुत से अच्छे काम किए और दूसरी बार 5 साल के लिए प्रधानमंत्री चुने गए मोदी सरकार ने धारा 370 हटवा दी, राम मंदिर का निर्माण करवा दिया, जो आज तक कोई नहीं करा पाया।


मोदी ने आज तक का सबसे शुद्ध अभियान- स्वच्छ भारत अभियान भी चलाया है, जिसमें घर-घर में शौचालय बनाए जा रहे हैं और आज हम आपको पुराने जमाने के राजा-रानियों के शौचालयों के बारे में बताएंगे।


आजकल हर गांव में स्वच्छ भारत अभियान की वजह से शौचालय का निर्माण कराया जा रहा है, लेकिन राजा-रानियों के जमाने में भी स्वच्छता का बहुत ध्यान रखा जाता था और उनके शौचालय बाड़े में बनवाए जाते थे, जो बिल्कुल ही अनोखे होते थे और उन्हें सिर्फ राज परिवार इस्तेमाल करता था, शौच करने के बाद वह उस पर काली मिट्टी या राख डाल दिया करते थे।


आज से लगभग 5000 साल पहले के टॉयलेट बिल्कुल आज  जैसे सामान्य बनाए जाते थे और सिंधु घाटी सभ्यता की खुदाई करते समय हमें उस समय के ड्राई टॉयलेट्स प्राप्त हुए जो बिल्कुल आज के वेस्टर्न टॉयलेट से मिलते जुलते हैं, खुदाई में फ़्लैश और नॉनफ़्लैश टॉयलेट भी मिले, जो बिल्कुल ही करिश्मे के बराबर है, साथ ही इनमें पाइप भी मिले जो कचरे को आगे बढ़ाता है।


दिल्ली में सुलभ शौचालय का संग्रहालय बनाया गया है और उसमें अनोखे टॉयलेट्स जमा किए गए हैं, इसमें हड्डपा समाज और मोहन जोडरो के समय के शौचालय भी शामिल है, और यह बिल्कुल आज के शौचालयों से मिलते जुलते है और इससे पता चलता है कि पुराने समय में भी स्वछता का ध्यान रखा जाता था।
पुराने जमाने में भी राजा-रानियां शौचालय में शौच करते थे और स्वछता का पूरा ध्यान रखते थे Reviewed by Chiraj on 2:15 pm Rating: 5

No comments:

loading...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.