TRADING NOW

recent
loading...

इंद्र की अप्सरा उर्वशी की अर्जुन ने नहीं बुझाई कामवासना तो गुस्से में मिला था श्राप, एक साल तक नामर्दगी का किया था सामना ?

आज हम आपको पांडवों के सबसे खतरनाक योद्धा अर्जुन के बारे में बताएंगे कि यह 1 साल तक नपुंसक रहे थे ?


पांडवों में सबसे खतरनाक योद्धा अर्जुन माना जाता था एक समय था जब अर्जुन चित्रसेन के पास नृत्य और संगीत सीखने जाया करते थे वहां पर इंद्र की अप्सरा उर्वशी पहुंची और अर्जुन को देखकर उनके प्यार में पड़ गई अवसर मिलते ही उर्वशी ने अर्जुन से कहा कि आपको देखकर मेरी कामवासना जाग गई और कृपया करके आप मेरे साथ विहार करें और मेरी कामवासना को शांत कीजिए। 


इस पर अर्जुन ने उर्वशी को कहा कि हे देवी आप हमारी माता समान है और हमारे पूर्वजों ने आप से विवाह किया और हमारे वंश को आगे आधाय, आप पूर्व वंश की जननी है इस वजह से मैं आपको प्रणाम करता हूं। 


अर्जुन की ऐसी बात सुनकर उर्वशी को बहुत भयंकर गुस्सा आ गया और अर्जुन को नपुंसक होने का श्राप देते हुए कहा कि तुमने नपुंसक जैसी बात की है इस वजह से मैं तुम्हें श्राप देती हूं 1 वर्ष के लिए तुम नपुंसक रहोगे। 


अर्जुन ने अज्ञातवास के दौरान 1 साल तक नपुंसक का जीवन बिताया इस दौरान इसने विराट नगर के राजा विराट की पुत्री उत्तरा को नृत्य सिखाया था, अज्ञातवास के दौरान अर्जुन का यह नपुंसक रूप काम आया था। 


इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें - धन्यवाद। 
इंद्र की अप्सरा उर्वशी की अर्जुन ने नहीं बुझाई कामवासना तो गुस्से में मिला था श्राप, एक साल तक नामर्दगी का किया था सामना ? Reviewed by Deepak saini on 10:30 am Rating: 5

No comments:

loading...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.