TRADING NOW

recent
loading...

इस वजह से भगवान राम ने ही तोड़ डाला था रामसेतु पूल, कारण जानकर आप भी चौंक जायेंगे ?

आज हम आपको बताएंगे कि भगवान राम ने अपने ही द्वारा बनाया गया राम सेतु पूल क्यों तोड़ दिया था तो जाने ?


रावण का वध करने के बाद भगवान राम अयोध्या लौट गए और कई सालों तक वहां के राजा बन कर रहे हैं लेकिन एक बार ऐसे ही उनको विभीषण का ख्याल है जो लंका पर राज कर रहे थे इसने सोचा कि लंका में कैसा शासन हो रहा है और विशिषण कैसा है इसके बारे में वह जानने को व्याकुल थे इस वजह से इन्होंने लंका जाने का निर्णय किया तब उनके साथ भरत भी साथ में चलने को तैयार हो गए। 


भरत और राम ने किष्किन्गा नगरी नगरी पर रुके वह पर वानर और सुग्रीव की सेना से मिले,वहां पर सुग्रीव को पता चलता है कि भगवान राम और भरत विभीषण से मिलने लंका जा रहे हैं तो उनके साथ सुग्रीव भी चलने के लिए राजी हो जाता है। 


तीनों पुष्पक विमान से लंका की तरफ आगे बढ़ते हैं विभीषण को राम के लंका में आने की खुशी बहुत ज्यादा होती है इस वजह से चारो तरफ अपने राज्य को सजाते हैं और उनका मान सम्मान में लग जाते हैं। 

भगवान राम ने धर्म और अधर्म का ज्ञान विभीषण को दिया वह लंका में राम 3 दिनों तक रुके,  तब विभीषण ने कहा कि हे भगवान आप ने रामसेतु बनाया इस रास्ते से चलकर मानव मुझे परेशान करेगा तो मैं क्या करूंगा तब भगवान श्रीराम ने बिना सोचे समझे अपने तीर से पूरे रेमसेतु पूल को तहस-नहस कर दिया इसी वजह से भगवान राम को मर्यादा पुरुषोत्तम कहा जाता हैं। 

इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें - धन्यवाद। 


इस वजह से भगवान राम ने ही तोड़ डाला था रामसेतु पूल, कारण जानकर आप भी चौंक जायेंगे ? Reviewed by Deepak saini on 3:30 pm Rating: 5

1 comment:

  1. Pushpak viman to Ram ji ne phle hi bhej diya tha ....tum kuber pai jahu....ye line saf saf sabdo me àpko Ram charit manas me mil jaegi

    ReplyDelete

loading...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.