TRADING NOW

recent
loading...

मैन वर्सेज वाइल्ड :- प्रधानमंत्री मोदी ने किया चाय बेचने से लेकर प्रधान मंत्री तक का जिक्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डिस्कवरी चैनल के चर्चित रियल्टी शो 'मैन वर्सेज वाइल्ड' में खास मेहमान बनकर शरीक हुए. भारत के उत्तराखंड में जिम कार्बेट में शूट किए गए इस कार्यक्रम में मोदी होस्ट बेयर ग्रिल्स  ने कई चीजों पर बातचित की. इस दौरान पीएम मोदी ने बेयर ग्रिल्स को अपने जीवन जुड़ी कई बातें करी। 



- प्रकृति और इंसान का संघर्ष खतरनाक
कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री और बेयर बीच प्रकृति को लेकर बातचीत हुई. जब बेयर ग्रिल्स ने जिम कार्बेट को खतरनाक बताया तो मोदी ने कहा कि अगर हम प्रकृति से संघर्ष करते हैं तो यह प्रकृति के साथ सबके लिए खतरनाक होता है, लेकिन हम प्रकृति से संतुलन बना कर रखते है तो वह भी हमारी मदद करती है।



-बचपन में कपड़े धोने के लिए नहीं था साबुन
 बेयर ग्रिल्स ने पीएम नरेंद्र मोदी से जानना चाहा कि उनका बचपन किस माहौल में बीता था? इस पर प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका बचपन बड़ी गरीबी में बीता. वह गुजरात में अपने परिवार के साथ रहते थे. पीएम ने बताया कि वह गरीब परिवार से ताल्लुक रखने के कारण उनके पास नहाने और कपड़े धोने के साबुन के भी पैसे नहीं होते थे. ऐसे में वह सॉल्ट की परत का इस्तेमाल नहाने और कपड़े धुलने के लिए करते थे. बेयर ग्रिल्स ने पूछा कि किस तरह वह नहाने के लिए इसका इस्तेमाल करते थे. इस पर प्रधानमंत्री ने कहा कि वह उन परतों को पानी में गर्म करके उसका इस्तेमाल नहाने में करते थे।



- बचपन से ही साफ-सुथरा रहना पसंद
प्रधानमंत्री मोदी को उनके कपड़ों और फैशन के लिए जाना जाता है. 'मैन वर्सेज वाइल्ड' के दौरान बेयर ग्रिल्स ने पीएम मोदी से पूछा कि वह खुद को इतना मेंटेन किस तरह रख पाते  हैं. इस पर पीएम ने कहा कि बचपन से ही उन्हें साफ-सुथरा रहना पसंद है. पीएम मोदी ने बताया कि वह बचपन में गर्म कोयले को एक तांबे के बर्तन में रख लेते थे और इसी से अपने कपड़े इस्त्री करते थे।


-  रेलवे से खास जुड़ाव 
प्रधानमंत्री के रेलवे स्टेशन पर चाय बेचने का भी जिक्र आया. पीएम मोदी ने कहा कि उनके पिता रेलवे स्टेशन पर चाय बेचते थे. वह स्कूल की बाद घर आकर अपने पिता की मदद किया करते थे. इस पर बेयर ग्रिल्स ने कहा कि आपके लिए रेलवे स्टेशन काफी खास होगा, जिसका जवाब पीएम मोदी ने हां में दिया।



- मारना हमारे संस्कार में नहीं
बेयर ग्रिल्स एक लकड़ी और चाकू की मदद से सुरक्षा के लिए एक भला नुमा तैयार करके पीएम मोदी को देते हैं. इस पर मोदी ने कहा कि किसी को मारना मेरे संस्कार में नहीं है, लेकिन आपकी सुरक्षा के लिए मैं इसे अपने पास रख लेता हूं. पीएम मोदी ने इससे पहले ये भी कहा कि ईश्वर पर भरोसा करें, वह सबकी मदद करते हैं।



- 18 साल में ली पहली छुट्टी
मोदी ने पिछले 18 सालों में इसे अपनी पहली छुट्टी बताया. बेयर ग्रिल्स ने पीएम मोदी से सवाल पूछा कि उनके मन में पहली बार प्रधानमंत्री बनने का ख्याल कब आया. इस पर मोदी ने कहा कि वे करीब 13 साल एक राज्य के सीएम रहे. इसके बाद देश की जनता ने पीएम बना दिया. पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने हमेशा विकास पर ध्यान दिया. अगर इसे कार्यक्रम को वेकेशन कहें तो 18 साल में यह उनका पहला वेकेशन है।



- पिताजी चिट्ठी लिखकर देते थे बारिश की सूचना
हमें प्रकृति के प्रति उत्साहित रहना चाहिए. उन्होंने बताया कि जब मैं छोटा था तो हमारी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी. जब भी बारिश होती थी तो पिताजी 25-30 पोस्टकार्ड लेकर आते और सभी रिश्तेदारों को बारिश होने की खबर देते थे. हमें लगता कि इस बेवजह खर्चे की क्या जरूरत है, लेकिन अब अहसास होता है कि जब वे रिश्तेदारों को बताते थे कि हमारे गांव में बारिश हो गई है तो उनके चेहरे पर संतोष होता था।



-  भूखे मर जाएंगे परन्तु लकड़ी नहीं बेचेंगे
उन्होंने अपनी दादी से जुड़ा एक किस्सा बताते हुए कहा कि मेरी दादी जी पढ़ी-लिखी नहीं थी. मेरे चाचा ने लकड़ी का व्यापार करने का मन बनाया. इस पर मेरी दादी बहुत नाराज हुई. जब दादी से इसका कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि भूखे मर जाएंगे, लेकिन लकड़ी बेचने का काम नहीं करेंगे. मेरी दादी का मानना था कि लकड़ी में भी जीवन है. पेड़ काटकर परिवार चलाना ठीक नहीं, मोदी ने बताया कि कैसे उन्हें अपने परिवार से प्रकृति से प्रेम करने की सीख मिली।



- पीएम ने किया तुलसी विवाह का जिक्र
बेयर ग्रिल्स ने नीम का जिक्र किया और इसे पेट के लिए काफी लाभदायक बताया. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में हर पौधे को भगवान माना जाता है. यहां तुलसी विवाह की परंपरा है. तुलसी विवाह में भगवान के साथ तुलसी की शादी करते हैं।



- पीएम मोदी ने दुनिया के दिया ये संदेश
बेयर ग्रिल्स ने पीएम मोदी से पूछा कि अगर आप दुनिया को कोई संदेश देना चाहेंगे तो वह क्या होगा? इस पर पीएम मोदी ने कहा कि प्रकृति से कुछ भी लेते हैं तो सोचें कि 50 साल बाद जो बच्चा होगा वो पूछेगा कि मेरे हक की हवा क्यों खराब कर रहे हो. मैं शाकाहारी हूं, प्राणी के लिए प्रकृति का महत्व मुझे पता है।

इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें - धन्यवाद
इस तूफानी धुरंधर ने कहा,"60-70 नहीं बल्कि इतने सारे शतक लगाएंगे कोहली, क्रिकेट इतिहास हो जाएगा उथल-पुथल ?
मैन वर्सेज वाइल्ड :- प्रधानमंत्री मोदी ने किया चाय बेचने से लेकर प्रधान मंत्री तक का जिक्र Reviewed by Kirti on 1:30 pm Rating: 5

No comments:

loading...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.